Breaking :
||अब झारखंड के सरकारी स्कूलों में हर महीने के तीसरे शनिवार को रहेगी छुट्टी||बिहार: सीएम नीतीश ने दिया इस्तीफा, राजद के साथ सरकार बनाने का दावा||चतरा डीसी अबु इमरान ने किया एक और सांसद का अपमान, लोकसभा स्पीकर के पास दूसरी बार पहुंची शिकायत||अब झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में कक्षाएं संचालित करने में स्थानीय युवाओं की मदद लेगी सरकार||रांची बिरसा मुंडा एयरपोर्ट उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी बिहार से गिरफ्तार||बिहार में सियासी हलचल, नीतीश के पालाबदल की चर्चा, दिल्ली बुलाए गए भाजपा नेता||सुखाड़ को लेकर सरकार गंभीर, स्थिति का जायजा लेने सभी जिलों में भेजे गए अधिकारी||रांची में अपराधियों ने गैस दुकानदार मारी गोली, रिम्स में चल रहा इलाज||माओवादियों के नाम पर लेवी वसूलने आये तीन बदमाश पकड़ाये||झारखंड कैबिनेट में फेरबदल, कांग्रेस के लिए नयी मुसीबत, फूट पड़ने की आशंका बढ़ी

झारखंड बालिका आवासीय विद्यालय की वार्डन पर लापरवाही बरतने का आरोप, कार्रवाई की मांग

'

बारियातू/संजय राम

लातेहार : झारखंड बालिका आवासीय विद्यालय बारियातू के अध्यक्ष आनंद उरांव ने विद्यालय के वार्डन पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है।

अध्यक्ष आनंद ने प्रखंड प्रमुख महावीर उरांव को लिखित आवेदन देकर बताया कि मैं 23 दिसंबर गुरुवार को विद्यालय पहुंचा तो वार्डन सहित एक भी शिक्षिका विद्यालय में उपस्थित नही थी। गुरुवार से ही विद्यालय एक सप्ताह के लिए बंद हो रहा था, जिस कारण विद्यालय में अध्यनरत छात्राएं अपने घर जाने की तैयारी में थीं। लेकिन वार्डन सहित कोई शिक्षिका नही रहने से छात्राएं काफी परेशानी थी। विद्यालय में उनकी देख-रेख करने वाला भी कोई नही था।

आवेदन में आगे बताया गया है कि पूर्व में भी वार्डन इस तरह की लापरवाही करती रही हैं। जिसकी सूचना प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी को भी दी गई है, फिर न तो कोई करवाई की गई है न ही कोई सुधार हुआ है। विद्यालय में विषयवार शिक्षकों की भी कमी है।

विद्यालय के अध्यक्ष सहित अन्य अभिभावकों ने वार्डन सहित अन्य शिक्षिकाओं की शिक्षण कार्य शैली में सुधार लाने या स्थानांतरण करने की मांग किया है।

इस संबंध में प्रखंड प्रमुख महावीर उरांव ने कहा कि विद्यालय के अध्यक्ष सहित अन्य अभिभावकों ने दूरभाष पर जानकारी दिया कि विद्यालय से वार्डन सहित अन्य शिक्षिका गायब है। इस सूचना पर जब मैं विद्यालय पहुंचा तो वार्डन सहित कोई शिक्षिका को भी उपस्थित नही थी, जो इनकी लापरवाही को दर्शाता है। लिखित आवेदन मिला है कार्रवाई के लिए जिले के अधिकारियों को प्रेषित किया जाएगा।

आवेदन देने वालो में मुख्य रूप से रामचंद्र गंझू, पंकज कुमार यादव, धनेश्वर कुजूर, प्रमोद राम, नरेश उरांव, रामजतन पंडित, बसंती देवी, अमीर गंझू सहित अन्य अभिभावक शामिल हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published.