Breaking :
||पलामू में बिजली गिरने से तीन किशोर की मौत, बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे छिपे थे||रांची में करंट लगने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत, तिरंगा लगाने के दौरान हुआ हादसा||15 अगस्त को झारखंड के 26 पुलिसकर्मियों को विभिन्न सेवाओं के लिए मेडल||रांची में नकली नोटों के तस्कर को पकड़ने गई दिल्ली पुलिस पर ग्रामीणों ने किया हमला, बनाया बंधक||झारखंड जल्द होगा सूखाग्रस्त घोषित, सभी मापदंडों पर तैयार हो रही रिपोर्ट||लातेहार: विद्यालय से उर्दू शब्द हटाए जाने पर मुस्लिम समुदाय में आक्रोश, किया प्रदर्शन||मुख्य धारा में लौटे नक्सलियों के सम्मान समारोह में अधिकारियों ने कहा- सरकार की सेरेंडर पॉलिसी का लाभ उठाएं नक्सली||लातेहार : खेत में धान बो रहे किसान पर गिरी बिजली, पति-पत्नी की मौके पर ही मौत||झारखंड भाजपा को मिलेगा नया प्रदेश अध्यक्ष, नियुक्ति को लेकर कई नामों पर चर्चा||अब झारखंड के बिजली उपभोक्ताओं को मिलेगी 100 यूनिट मुफ्त बिजली

लातेहार: 12 से 14 साल के बच्चों का टीकाकरण शुरू, लक्ष्य के अनुरूप टीकाकरण के निर्देश

'

लातेहार : उपायुक्त अबु इमरान के निर्देशानुसार उप विकास आयुक्त सुरेन्द्र कुमार वर्मा की अध्यक्षता में कोरोना संक्रमण के रोकथाम एवं स्वास्थ्य विभाग से संचालित योजनाओं की समीक्षा की गई।

इस क्रम में सीएस के द्वारा कोरोना संक्रमण के रोकथाम को लेकर स्वास्थ्य विभाग से किए जा रहे कार्य की जानकारी दी गई। बताया गया कि कोरोना टीकाकरण के सेकेंड एवं 12 से 14 वर्ष के बच्चों का आरंभ हो रहे टीकाकरण की जानकारी दी।

जिस पर उप विकास आयुक्त के द्वारा निर्देशित किया गया कि 12 से 14 वर्ष के बच्चों का पहले विद्यालय स्तर पर टीकाकरण करना सुनिश्चित करें एवं लक्ष्य को प्राप्त करें। वही सेकेंड डोज टीकाकरण का कार्य लक्ष्य के अनरूप नहीं होने पर उन्होंने अविलंब टीकाकरण शतप्रतिशत करने को लेकर सीएस को निर्देशित किया।

इस दौरान कोरोना जांच कार्य की भी समीक्षा की गई जिस पर पाया कि बरवाडीह प्रखंड में कोरोना जांच की गति काफी धीमी है। जिस पर उन्होंने कोरोना जांच की गति तेज करने का निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि कोरोना के रोकथाम के लिए जांच अतिआवश्यक है, जांच कार्य में लापरवाही नहीं बरते। समीक्षाक्रम में स्वास्थ्य विभाग से संचालित योजनाओं की भी समीक्षा की गई। बैठक में कुपोषित बच्चों को चिहिंत करने के लिए चलाए जा रहे समर अभियान की जानकारी दी गई। जिस पर उप विकास आयुक्त के द्वारा सभी एमओआइसी को निर्देशित किया गया कि अभियान के तहत चिहिंत कुपोषित बच्चों को अविलंब एमटीसी में भर्ती करना सुनिश्चित करें।

बैठक में उप विकास आयुुक्त को सीएस के द्वारा टीबी, कुष्ट एवं मलेरिया की रोकथाम के लिए विभाग से हो रहे कार्य की जानकारी दी। जिस पर उन्होंने निर्देशित किया कि टीबी एवं कुष्ट उन्मूलन कार्य को पूरी सजगता के साथ विभाग करे, ताकि जिला कुष्ट एवं टीबी रोग से मुक्त हो सके।

इस दौरान उन्होंने मलेरिया के लिए डीडीटी का छिड़काव ससमय करवाने का निर्देश दिया। समीक्षाक्रम में उप विकास आयुक्त के द्वारा स्वास्थ्य विभाग से संचालित अन्य कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

मौके पर सीएस डा हरेन्द्रचंद्र, डा नीलमणि, वेद प्रकाश समेत सभी प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी एवं स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published.