Breaking :
||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से एक बाइक सवार की मौत, दो की हालत गंभीर||लातेहार: माओवादियों की बड़ी साजिश नाकाम, बरवाडीह के जंगल से आठ आईईडी बम बरामद||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या
Wednesday, April 17, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरलातेहार

बेमौसम बारिश ने तोड़ दी किसानों की कमर, टमाटर की फसल पर गहरा असर

संजय राम/बारियातू

लातेहार में दो दिनों से तूफ़ान के साथ हो रही बारिश और बदली से किसानों को काफी नुकसान हो गया है। इस बेमौसम बारिश से सबसे ज्यादा सब्जी की खेती पर असर पड़ा है। किसानों के मुताबिक तूफ़ान के साथ हो रही बारिश और बदली के कारण टमाटर, फूल गोभी, बैंगन, मिर्च, धनिया आदि फसल कई जगह बर्बाद हो गई है।

बालूमाथ और बारियातू प्रखंड क्षेत्र में हजारों एकड़ में लगी टमाटर की फसल असर पड़ा है। बारियातू प्रखंड के नौ पंचायत के सभी गांव में बड़े पैमाने पर टमाटर की खेती होती है। जो छोटे-बड़े सभी किसानों के लिए आर्थिक आमदनी का बेहतर जरिया है।

मंगलवार की रात तेज आंधी तूफान के साथ लगातार दो घंटे तक हुई बारिश से इटके, अमरवाड़ीह, बेसरा,बेसरा, मकरा, मनातू, शिबला, राजगुरु, गोनिया, गड़गोमा, नावाडीह, छाताबर, चुम्बा बीरबीर, बालूभांग, फुलसू, डाढा, साल्वे, टोटी हेसला, गिद्दी मोड़, बरछिया, गड़गोमा, भाटचतरा, मनातू सहित 56 गांव में हजारों एकड़ में लगे टमाटर की फसल प्रभावित हुआ है। जिससे किसानों को भारी आर्थिक क्षति हुई है।

बता दें कि किसानों द्वारा टमाटर की रोपाई के कुछ दिन बाद ही काफ़ी हिस्सो में लगे पौधे मर गए थे। जो बचे थे उससे टमाटर निकलने लगे थे। जिससे किसानों को अच्छी आमदनी हो रही थी। अचानक आई तेज आंधी पानी से पूरे क्षेत्र में फले और पके टमाटर पर असर पड़ा है। ऐसे में बेमौसम बारिश होने के कारण किसानों की मेहनत पर पानी फिर गया है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *