Breaking :
||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
Sunday, February 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

JSSC-CGL पेपर लीक मामले में जांच के दौरान पलामू से हिरासत में लिये गये दो युवक

JSSC-CGL paper leak case

पलामू : झारखंड राज्य कर्मचारी चयन आयोग के प्रश्न पत्र लीक के मामले में स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (जेएसएससी) ने शनिवार पलामू के विभिन्न इलाकों में छापेमारी की है। इस छापेमारी में एसआईटी ने दो युवकों को हिरासत में लिया है। दोनों युवकों को एसआईटी की टीम अपने साथ रांची ले गयी है। दोनों युवकों के मोबाइल पर एसआईटी को जेएसएससी का प्रश्न पत्र मिला है। दोनों के मोबाइल पर किसी ने प्रश्न पत्र को भेजा था। एसआईटी प्रश्न पत्र भेजने वालों की तलाश कर रही है। एसआईटी की टीम पलामू के इलाके में 24 घंटे से कैम्प कर रही थी।

टीम ने मेदिनीनगर टाउन थाना क्षेत्र और हुसैनाबाद के इलाके में छापेमारी की है। इस छापेमारी में दो युवकों को एसआईटी ने हिरासत में लिया है। दोनों युवक से मेदिनीनगर टाउन थाना में कई घंटे तक पूछताछ हुई है। पूछताछ के बाद दोनों युवक को टीम साथ ले गयी है। दोनों युवक के मोबाइल को भी एसआईटी की टीम खंगाल रही है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

एसआईटी की टीम पलामू के एक कोचिंग संचालक रवि किशोर की तलाश कर रही है। रवि के घर पर भी पुलिस अधिकारियों ने छापेमारी की है, लेकिन वह नहीं मिल पाया। कुछ वर्ष पहले पलामू में फोर्थ ग्रेड में भर्ती के दौरान रवि का नाम निकलकर सामने आया था। बाद में विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पैसा लेकर नौकरी के देने के मामले में भी आरोप लगा था। पुलिस एवं एसआईटी को आशंका है कि रवि किशोर भी जेएसएससी सीजीएल पेपर लीक मामले में संलिप्त है।

JSSC-CGL paper leak case