Breaking :
||मशहूर गजल गायक पंकज उधास का निधन, लंबे समय से थे बीमार||कांग्रेस को बड़ा झटका, सांसद गीता कोड़ा भाजपा में शामिल||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 28 फरवरी को आयेंगी रांची, सुरक्षा के रहेंगे कड़े इंतजाम||झारखंड: अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर युवती से किया दुष्कर्म, धर्म परिवर्तन कराकर जबरन करा दी शादी||लातेहार: बालूमाथ में लोडेड देशी पिस्टल के साथ दो युवक गिरफ्तार, कार जब्त||पीएम मोदी ने समुद्र में लगायी डुबकी, जलमग्न कृष्ण की नगरी द्वारका को देखा||लातेहार: बारियातू में ऑटो चालक की गोली मारकर हत्या, विरोध में सड़क जाम||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप
Tuesday, February 27, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

संविदा पर नियुक्त कर्मियों के मामले में राज्य सरकार ने झारखंड हाई कोर्ट में रखा अपना पक्ष

रांची : झारखंड हाई कोर्ट के जस्टिस डॉ. एसएन पाठक की अदालत में गुरुवार को राज्य के संविदा कर्मियों और दैनिक वेतन भोगी कर्मियों की ओर से दायर 87 विभिन्न याचिकाओं पर सुनवाई हुई। इस मामले में राज्य सरकार की ओर से महाधिवक्ता राजीव रंजन पेश हुए। अगली सुनवाई अब 31 अगस्त को होगी।

याचिकाकर्ताओं में संविदा कर्मचारी और दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी शामिल हैं। उनकी ओर से कोर्ट को बताया गया कि वह 10 साल से अधिक समय से विभिन्न विभागों में संविदा या दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी के तौर पर काम कर रहे हैं। उनकी ओर से सुप्रीम कोर्ट के कई फैसलों समेत राज्य सरकार के नियम-कायदों का हवाला देते हुए कहा गया कि उनकी नियुक्ति नियमित की जाये।