Breaking :
||हजारीबाग सांसद जयंत सिन्हा ने राजनीति से लिया संन्यास, भाजपा अध्यक्ष को लिखा पत्र, जानिये वजह||दुमका में स्पेनिश महिला पर्यटक से गैंग रेप, तीन आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: बारियातू में बाइक पर अवैध कोयला ले जा रहे नौ लोग गिरफ्तार, जेल||लातेहार: अपराध की योजना बनाते दो युवक हथियार के साथ गिरफ्तार||पलामू: पेड़ से टकराकर पुल से नीचे गिरी बाइक, दो नाबालिग छात्रों की मौत, दो की हालत नाजुक||लोकसभा चुनाव: भाजपा ने की झारखंड से 11 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा, चतरा समेत इन तीन सीटों पर सस्पेंस बरकरार||लोससभा चुनाव: भाजपा की 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, देखें पूरी लिस्ट||सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों का हंगामा||झारखंड विधानसभा: बजट सत्र के अंतिम दिन कई विधेयक पारित||धनबाद: अस्पताल में लगी आग, मची अफरा-तफरी, मरीज और परिजन जान बचाकर भागे
Sunday, March 3, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार से गिरफ्तार लोगों से संगठन का कोई संबंध नहीं: TSPC

रांची : लातेहार पुलिस द्वारा गिरफ्तार दो व्यक्तियों के टीएसपीसी से संबंध होने के दावे पर उग्रवादी संगठन ने सवाल खड़ा किया है। तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी (TSPC) के दक्षिणी सब जोनल ब्यूरो जितेंद्र ने इस संबंध में आज प्रेस विज्ञप्ति जारी की है।

विज्ञप्ति में दावा किया गया है कि लातेहार पुलिस ने जिन दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है, उनका संगठन से कोई संबंध नहीं है। पुलिस टीएसपीसी को अपराधियों से जोड़ रही है। संगठन का किसी भी आपराधिक गिरोह से कोई लेना देना नहीं है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

विज्ञप्ति में आगे लिखा है कि इन दिनों टीएसपीसी के नाम पर ठेकेदारों और कारोबारियों को धमकाया जा रहा है। ऐसे लोगों को टीएसपीसी ने चिह्नित किया है। यह काम पोचरा का शमसाद अंसारी, जान्हो मतनाग का नंदू शर्मा, कोकी का भीम पासवान और महुआडाड़ का मंजर खान कर रहे हैं। यह लोग रात में कार्यस्थलों पर जाकर ठेकेदारों को धमकाकर मजदूरों के साथ मारपीट करते हैं।

प्रेस विज्ञप्ति के मुताबिक टीएसपीसी किसी भी आपराधिक गिरोह को पैसा उगाही का जिम्मा नहीं देता है। विवेक जी के नाम पर पैसा मांगा जा रहा है। वह जेल में बंद है। नवीन और रविंद्र नाम से भी धमकी दी जाती है। इनसे भी टीएसपीसी का कोई लेनादेना नहीं है। टीएसपीसी मजबूत है। उससे किसी भी आपराधिक गिरोह की जरूरत नहीं है।