Breaking :
||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 28 फरवरी को आयेंगी रांची, सुरक्षा के रहेंगे कड़े इंतजाम||झारखंड: अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर युवती से किया दुष्कर्म, धर्म परिवर्तन कराकर जबरन करा दी शादी||लातेहार: बालूमाथ में लोडेड देशी पिस्टल के साथ दो युवक गिरफ्तार, कार जब्त||पीएम मोदी ने समुद्र में लगायी डुबकी, जलमग्न कृष्ण की नगरी द्वारका को देखा||लातेहार: बारियातू में ऑटो चालक की गोली मारकर हत्या, विरोध में सड़क जाम||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल
Monday, February 26, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

विजिबिलिटी कम होने के कारण उड़ान नहीं भर सकी फ्लाइट, सर्किट हाउस लौट रहे सभी विधायक

Jharkhand Political Crisis Today

रांची : झामुमो और कांग्रेस विधायक आज शाम बस से सर्किट हाउस से एयरपोर्ट के लिए निकले थे। सभी लोग एयरपोर्ट पहुंच चुके थे। फ्लाइट में चढ़ने के बाद एयर होस्टेस सभी को सीट बेल्ट बांधने की सलाह दे रही थी। लेकिन इसी बीच सूचना आयी कि फ्लाइट उड़ान नहीं भर सकती। क्योंकि इस वक्त रांची का मौसम काफी खराब है। घना कोहरा छाया हुआ है। ऐसे में फ्लाइट का उड़ान भरना संभव नहीं है। इसलिए जो भी विधायक आज हैदराबाद जा रहे थे वे अब वापस लौटकर दोबारा सर्किट हाउस आ रहे हैं।

हैदराबाद जाने के लिए रांची एयरपोर्ट पर दो चार्टर विमान थे। बताया जा रहा था कि सभी को हैदराबाद की रामो जी फिल्म सिटी में ठहराया जायेगा। 43 विधायकों में से 38 विधायक एक साथ जा रहे थे। 5 विधायक रांची में रुके थे।

हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी के बाद आज पूरे दिन झारखंड में राजनीतिक उथल-पुथल मची रही। चंपई सोरेन को कल ही विधायक दल का नेता चुना गया था। आज चंपई ने राज्यपाल से भी मुलाकात क।. सरकार बनेगी या राष्ट्रपति शासन लगेगा, इस पर संशय है। राज्यपाल ने कल सब कुछ साफ करने की बात कही है। इसलिए सरकार गठन पर अभी भी सस्पेंस बरकरार है।

यहां सवाल उठ रहा है कि क्या झारखंड में कोई बड़ा सियासी खेल हो सकता है। विधायकों के दूसरे खेमे में जाने की आशंका या डर को देखते हुए पहले झामुमो और कांग्रेस विधायकों को सर्किट हाउस में ठहराया गया। इसके बाद हैदराबाद जाने की बात हुई। जेएमएम और कांग्रेस विधायकों को फ्लाइट से हैदराबाद ले जाया जा रहा था। हैदराबाद तेलंगाना राज्य में आता है और वहां कांग्रेस की सरकार है। इसलिए उन्हें वहां भेजा जा रहा था क्योंकि वहां किसी भी तरह की गड़बड़ी की आशंका नहीं थी।

Jharkhand Political Crisis Today