Breaking :
||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर 62.13 फीसदी वोटिंग, सबसे अधिक जमशेदपुर, सबसे कम रांची में मतदान||झारखंड में कल से दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का असर, लातेहार, गढ़वा, पलामू व चतरा जिले में भी असर||लातेहार: दुकान में चोरी करने आये तीन चोर आग में झुलसे, एक की मौत, दो गंभीर||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला||पलामू: तत्कालीन एसपी के फर्जी हस्ताक्षर से बने 12 चरित्र प्रमाण पत्र, बड़ा गिरोह सक्रिय||ED की टीम फिर पहुंची आलमगीर आलम के पीएस संजीव लाल के नौकर जहांगीर के घर||झारखंड: ज्वैलर्स शोरूम से दो लाख रुपये नकद समेत 50 लाख के आभूषण की लूट||निशिकांत दुबे के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत||लातेहार: चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज||बंगाल की खाड़ी में बन रहे लो प्रेशर का झारखंड में असर, ऑरेंज अलर्ट जारी, झमाझम बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत
Sunday, May 26, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरलातेहार

बदलाव: मुख्यमंत्री की सार्थक सोच का मिला प्रतिफल, लातेहार में अनछुए पर्यटन स्थलों के बहुरने लगे दिन

latehar tourism development – लातेहार पर्यटन

नक्सल प्रभावित क्षेत्र को सरकार की विकासात्मक सोच से मिल रही नई पहचान

लातेहार: अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र लातेहार जिले की पहचान अब बदल रही है। पर्यटन को अब नई पहचान मिल रही है। अपने आप में अनुपम प्राकृतिक सौन्दर्य से युक्त लालमटिया डैम पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करने लगा है।

वर्षों से अपने विकास की बाट जोह रहे डैम पर मुख्यमंत्री की नजर पड़ी तो उन्होंने लातेहार के उपायुक्त को इसके सौंदर्यीकरण का निर्देश दिया। फिर क्या था। उपायुक्त अबु इमरान प्रशासनिक विभाग के साथ डैम पहुंचे और निरीक्षण किया। कई बार बैठक कर लालमटिया डैम को पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित करने की कार्य योजना बनाई गई।

जिसके बाद डीटीपीसी की बैठक में लालमटिया डैम के सौंदर्यीकरण का निर्णय लिया गया और उसके बाद लालमटिया डैम के सौंदर्यीकरण का काम शुरू किया गया। जल्द ही लालमटिया डैम का स्वरूप पूरी तरह बदल गया। डैमको पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित करने से पर्यटन के रूप में नई पहचान मिली है। जहां कोई जाना पसंद नहीं करता था, वहां अब पर्यटक भटकते नजर आ रहे हैं।

लातेहार के ललमटिया डैम और नवागढ़ किला के सौंदर्यीकरण से पर्यटकों में उत्साह

राजा मेदनी राय द्वारा 16वीं शताब्दी में लातेहार में बनवाए गए नवागढ़ के नवरत्नगर किले को फिर से भव्य रूप दिया जा रहा है। सरकार के निर्देश के बाद इसकी ऊंचाई बनाए रखने का काम जारी है। इसके लिए किले तक पहुंचने के रास्ते को सुधारा गया है। आरामदायक सीढ़ियों का निर्माण किया गया है। अब पर्यटक इस किले के भव्य रूप को देखने आ रहे हैं। यहां पर्यटकों के लिए मूलभूत सुविधाओं की भी व्यवस्था की गई है।

पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित होने से होगा रोजगार का सृजन

उपायुक्त अबु इमरान के मुताबिक नवागढ़ किला और लालमटिया डैम को पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित करने से पर्यटकों की संख्या बढ़ रही है, वहीं रोजगार सृजन के नए अवसर भी पैदा हो रहे हैं। जिला प्रशासन द्वारा लालमटिया डैम में बोटिंग की कार्ययोजना तैयार कर 100 लोगों को प्रशिक्षित किया गया है। जिसमें 20 लोगों को बोटिंग और 16 लोगों को लाइफगार्ड के लिए चुना गया था। लालमटिया डैम पर जल्द बोटिंग शुरू होगी।

मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद किया गया विकसित : अबु इमरान, उपायुक्त

इन पर्यटन स्थलों को मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद विकसित किया गया है। लातेहार के अन्य अज्ञात पर्यटन स्थलों को चिन्हित कर इसके विकास की कार्ययोजना तैयार की जा रही है। जल्द ही लातेहार के अन्य पर्यटन स्थलों जैसे बेतला, नेतरहाट में पर्यटक आएंगे। इससे स्थानीय लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा।

latehar tourism development – लातेहार पर्यटन

https://thenewssense.in/category/latehar

https://www.facebook.com/newssenselatehar


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *