Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: उग्रवादी संगठन झारखंड क्रांति मोर्चा का सुप्रीमो पत्नी समेत गिरफ्तार, हथियार और कारतूस बरामद

लातेहार : नक्सलियों के खिलाफ चलाये जा रहे सर्च अभियान के दौरान सीआरपीएफ 214 बटालियन को बड़ी सफलता मिली है। सीआरपीएफ ने सदर थाना क्षेत्र के लेधपा गांव से उग्रवादी संगठन झारखंड क्रान्ति मोर्चा के सुप्रीमो शंकर राम को उसकी पत्नी कविता भुइयां के साथ गिरफ्तार किया है।

इसके पास से सीआरपीएफ ने एक 315 राइफल मैगजीन के साथ, तीन देशी पिस्तौल, पांच 315 जिंदा कारतूस, एक 315 खाली कारतूस, एक बारूद का पाउच समेत भारी मात्रा में अन्य सामग्री बरामद किया है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

यह नक्सल विरोधी अभियान सीआरपीएफ 214 बटालियन के कमांडेंट केडी जोशी के निर्देश पर चलाया जा रहा था। जिसका नेतृत्व सीआरपीएफ 214 बटालियन के सहायक कमांडेंट प्रहलाद रजक कर रहे थे। इस अभियान में सीआरपीएफ सी/214 बटालियन कुमंडीह कंपनी के साथ जिला पुलिस एवं क्यूएटी-214 बटालियन की टीम शामिल थी।

इस अभियान का सफल नेतृत्व सीआरपीएफ 214 बटालियन के कमांडेंट केडी जोशी ने किया। जबकि इस अभियान में सीआरपीएफ 214 बटालियन के द्वितीय कमान अधिकारी अभिनव आनन्द, सहायक कमांडेंट प्रहलाद रजक शामिल रहे।

214 बटालियन ने सफलतापूर्वक अभियान चलाकर नक्सलियों के नापाक मंसूबों को विफल कर दिया है। इससे ग्रामीणों में सीआरपीएफ के प्रति विश्वास और मजबूत हुआ है।