Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर||चतरा: अत्याधुनिक हथियार के साथ TSPC के तीन उग्रवादी गिरफ्तार||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज
Saturday, June 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

लगातार चौथी बार जीतने वाले एक मात्र सांसद बने निशिकांत दुबे, बनाय नया रिकॉर्ड

रांची : झारखंड में भले ही भाजपा को तीन सीटों का नुकसान हुआ हो लेकिन कई रिकॉर्ड भी बने हैं। गोड्डा लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी और तीन बार से सांसद निशिकांत दुबे ने जीत हासिल कर एक नया रिकॉर्ड बनाया है। निशिकांत झारखंड गठन के बाद लगातार चार बार संसदीय चुनाव जीतने वाले एकमात्र सांसद बन गये हैं। इसके अलावा जमशेदपुर और पलामू में भी भाजपा ने हैट्रिक लगायी है।

झारखंड की गोड्डा लोकसभा सीट पर भाजपा का दबदबा है। यह सीट साल 1962 में अस्तित्व में आयी थी। हालांकि, तब झारखंड राज्य अलग नहीं बना था। बंटवारे के बाद इस सीट पर पांच लोकसभा चुनाव हुए हैं। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के टिकट पर निशिकांत दुबे ने जीत की हैट्रिक लगायी थी। वे यहां से 2009 और 2014 में सांसद चुने गये थे।

इस सीट पर संयुक्त बिहार में पहला चुनाव 1962 में हुआ था। इसमें कांग्रेस से प्रभुदयाल हिम्मत सिंह ने जीत दर्ज की थी। वर्ष 1967 में भी प्रभु दयाल सांसद चुने गये। वहीं, 1971 में कांग्रेस ने यहां फिर जीत हासिल की और जगदीश मंडल सांसद निर्वाचित हुए। हालांकि, 1977 में कांग्रेस हार गयी और भारतीय लोकदल के जगदंबी प्रसाद यादव यहां से जीते। इसके बाद 1980 के चुनाव में कांग्रेस ने फिर इस सीट पर कब्जा कर लिया। इस बार यहां से समीनउद्दीन सांसद चुने गये। वर्ष 1984 में यहां से कांग्रेस के शमीमुद्दीन सांसद बने।

वर्ष 1989 के लोकसभा चुनाव में पहली बार इस सीट पर भाजपा ने जीत दर्ज की और जनार्दन यादव सांसद बने। हालांकि, 1991 में झारखंड मुक्ति मोर्चा ने गोड्डा सीट पर जीत दर्ज की। वर्ष 1996 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने यहां से जीत दर्ज की। इस चुनाव में जगदंबी प्रसाद यादव ने जीत दर्ज की। वहीं, 1998 में भाजपा ने फिर वापसी की। इस उपचुनाव में जगदंबी प्रसाद यादव फिर से सांसद बने। इसके बाद 1999 में जगदंबी प्रसाद यादव ने जीत की हैट्रिक लगायी।

इस सीट पर 2004 का लोकसभा चुनाव झारखंड राज्य बनने के बाद हुआ। इस चुनाव में कांग्रेस के फुरकान अंसारी ने जीत दर्ज की थी। वर्ष 2009 में भाजपा ने फिर वापसी की और डॉ. निशिकांत दुबे जीतकर लोकसभा पहुंचे।

Godda MP Nishikant Dubey