Breaking :
||झारखंड के 248 पारा शिक्षक गायब, 232 ने छोड़ी नौकरी, 5 दिसंबर तक मिला मौका||झारखंड में छह साल से नहीं हुई जेटेट परीक्षा, हाईकोर्ट में याचिका दायर||मुख्यमंत्री के प्रेस सलाहकार समेत चार के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी||मुख्यमंत्री विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को नहीं मिली जमानत||लातेहार: बालूमाथ में कोयला कारोबारियों से व्हाट्सएप कॉल कर रंगदारी मांगने वाला TSPC का एरिया कमांडर गिरफ्तार, भेजा जेल||हेमंत सरकार तीन वर्ष पूरे होने पर सुखाड़ प्रभावित 22 जिलों के किसानों को देगी तोहफा, आवेदन शुरू||झारखंड: ऑनलाइन गेम में मिली हार से परेशान बच्चे ने कर ली खुदकुशी, माता-पिता हो जायें सावधान!||पलामू में नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म, वीडियो वायरल करने की धमकी देकर किया शारीरिक शोषण||बूढ़ा पहाड़ से फिर मिले 12 केन IED बम, किया गया नष्ट||सीओ हेमा प्रसाद व अन्य के खिलाफ होगी ACB जांच, सीएम हेमंत सोरेन ने दी मंजूरी

झारखंड में 19 दिसंबर को नगर निकाय चुनाव, राज्यपाल ने दी मंजूरी

रांची: झारखंड में 48 नगर निकायों के लिए 19 दिसंबर को चुनाव हो सकता है। झारखंड सरकार के इस प्रस्ताव पर राज्यपाल रमेश बैस ने अपनी मंजूरी दे दी है। नगर विकास विभाग द्वारा मंगलवार को इस संबंध में अधिसूचना जारी करने के बाद राज्य निर्वाचन आयोग इसकी घोषणा करेगा। मंगलवार को ही चुनाव की घोषणा के सवाल पर राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव राधेश्याम प्रसाद ने कहा कि यह फैसला राज्य सरकार की अधिसूचना के बाद लिया जायेगा।

बढ़ायी जा सकती है तिथि

इधर, आरक्षण को लेकर हो रहे विरोध के चलते चुनाव की तारीख आगे बढ़ने की भी संभावना जतायी जा रही है। कुछ निकायों में मेयर और अध्यक्ष पद पर आरक्षण पर सवाल उठाते हुए कुछ संगठनों ने झारखंड सरकार से इसमें संशोधन की मांग की है। अनुसूचित जाति के लिए रांची नगर निगम के मेयर पद के आरक्षण का भी विरोध हो रहा है।

इसे भी पढ़ें :- लातेहार: 40 से 50 की संख्या में आये माओवादियों ने दिया घटना को अंजाम, पर्चा छोड़ कर ली घटना की जिम्मेदारी

आदिवासी संगठनों ने सीएम से की है मांग

आदिवासी संगठनों ने भी सोमवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मुलाकात की और अनुसूचित क्षेत्रों में हो रहे निकाय चुनाव को पांचवीं अनुसूची के प्रावधानों का उल्लंघन बताया। संगठनों ने पेसा कानून के तहत इन क्षेत्रों में सामान्य कानून को बदलने की मांग की। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि मुख्यमंत्री इस पर फैसला ले सकते हैं।

एक ही चरण में होंगे चुनाव

बता दें कि नौ नगर निगमों, 20 नगर परिषदों और 19 नगर पालिकाओं के लिए एक ही चरण में निकाय चुनाव होने हैं। राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव की तैयारी पूरी कर ली है। नगर निगम के चुनाव ईवीएम से होंगे और मतदाताओं को नोटा के इस्तेमाल का अधिकार मिलेगा। आयोग ने नगर निकायों में विभिन्न पदों का आरक्षण तय किया है और उम्मीदवारों को आवंटित किए जाने वाले चुनाव चिन्ह भी तय किये हैं।