Breaking :
||घास काटने गयी 50 वर्षीय महिला के साथ पुलिसकर्मियों ने की हैवानियत, गैंगरेप के बाद गुप्तांग पर पैरों से हमला||लातेहार: कठपुलिया लूट का चंद घंटों में खुलासा, चार लुटेरे हथियार व सामान के साथ गिरफ्तार||दुमका में फिर सनकी प्रेमी ने युवती को जिंदा जलाया, रिम्स पहुंचने से पहले हुई मौत||पलामू में जन वितरण प्रणाली दुकानदार की गोली मारकर हत्या, पुलिस कर रही जांच||लातेहार: युवक हत्याकांड का खुलासा, भाभी ने ही करा दी देवर की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार||थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी कंपनी के साइट पर नक्सलियों का उत्पात, फायरिंग कर जेसीबी में लगायी आग||दुर्गा पूजा पर आयोजित कार्यक्रम देख लौट रही नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म||हजारीबाग: तीर्थयात्रियों से भरे बस और ट्रक की सीधी टक्कर में 4 की मौत, 30 घायल||लातेहार: ढाबा चलाने की आड़ में अफीम व डोडा पाउडर बेचने के आरोप में ढाबा संचालक गिरफ्तार||रांची: गैस रिफिलिंग की दुकान में रखे सिलेंडर में हुए विस्फोट से चार दुकानें जलकर राख

झारखंड में होली के बाद होगी मैट्रिक और इंटर की परीक्षाएं, तारीखों की घोषणा 10 फरवरी तक

'

jharkhand board exam

झारखंड में मैट्रिक और इंटर की परीक्षाएं मार्च में होली के बाद शुरू हो सकती हैं। परीक्षा की तारीखों की घोषणा अभी नहीं हुई है, झारखंड एकेडमिक काउंसिल (JAC) 10 फरवरी तक तारीखों की घोषणा कर सकती है। शुक्रवार को शिक्षा सचिव राजेश कुमार शर्मा ने विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की हालांकि, परीक्षा के प्रारूप को लेकर बैठक में कोई सहमति नहीं बन पाई। लेकिन परीक्षा पिछले साल सितंबर में जारी गाइडलाइन के अनुसार होगी और दोनों टर्म की परीक्षा एक साथ ली जाएगी।

कोरोना के चलते परीक्षा में पूरा ध्यान रखा जाएगा। शिक्षा विभाग चाहता है कि मैट्रिक-इंटर की परीक्षा होम सेंटर पर ली जाए। हालांकि ऐसा करने से परीक्षा केंद्रों की संख्या काफी बढ़ जाएगी। मैट्रिक-इंटर परीक्षा के लिए अब तक राज्य में करीब 700 केंद्र बनाए जा चुके हैं, जबकि होम सेंटर पर परीक्षा होने से केंद्रों की संख्या बढ़कर 3400 हो सकती है। होम सेंटर पर परीक्षा देने में आ रही दिक्कतों की रिपोर्ट तैयार की जा रही है। जैक की रिपोर्ट के बाद अंतिम फैसला शिक्षा विभाग लेगा।

बहुविकल्पीय (वस्तुनिष्ठ) और लिखित (लघु और दीर्घ उत्तरीय) परीक्षा ली जा सकती है क्योंकि दोनों परीक्षाएं एक साथ आयोजित की जाती हैं। यदि परीक्षाएं दो चरणों में होंगी तो पहले चरण में 40 अंक लिए जा सकते हैं, जो बहुविकल्पीय होंगे। यह परीक्षा ओएमआर सीट पर ली जाएगी। वहीं, दूसरे चरण की परीक्षा लिखी जा सकती है। हालांकि, परीक्षा एक टर्म में ली जाए या नहीं, इस पर अंतिम फैसला राज्य सरकार या झारखंड एकेडमिक काउंसिल के चेयरमैन ही लेंगे।

jharkhand board exam

https://thenewssense.in/category/latehar

https://www.facebook.com/newssenselatehar


Leave a Reply

Your email address will not be published.