Breaking :
||BREAKING: बालूमाथ में मधुमक्खियों ने फिर किया हमला, एक आदिवासी महिला की मौत, छह घायल||लातेहार: पातम-डाटम जल प्रपात घूमने आये दो युवकों की नहाने के दौरान नदी में डूबने से मौत||पाकुड़ में करंट लगने से बाप-बेटे की मौत, बेटे को बचाने में गयी पिता की जान||झारखंड में IAS अधिकारियों का तबादला, केके सोन को परिवहन विभाग का अतिरिक्त प्रभार||बूढ़ा पहाड़ पहुंचे CRPF के DG कुलदीप सिंह, जवानों का बढ़ाया हौसला||वर्चस्व की लड़ाई में मारा गया JJMP कमांडर, लातेहार, रामगढ़ और रांची इलाके में था सक्रिय||शर्मनाक: पुलिस कर्मी पर जानवर से दुष्कर्म का आरोप, ग्रामीणों ने की मारपीट, आरोपी जवान निलंबित||BREAKING: पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में घायल सीआरपीएफ जवान की इलाज के दौरान मौत||15 लाख का इनामी माओवादी कमांडर विनय यादव गिरफ्तार, पलामू, लातेहार, गढ़वा व चतरा में हुए कई नक्सली हमलों में था शामिल||पलामू: अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार दो युवकों की मौत, एक गंभीर

रोड नहीं तो वोट नहीं के नारे के साथ ग्रामीणों ने महुआडांड़ में किया अनिश्चितकालीन चक्का जाम

'

Mahuadand Birsa Chowk

देवानंद/महुआडांड़

लातेहार : सड़क निर्माण की मांग को लेकर महुआडांड़ प्रखंड के ओरसापाठ गांव के सैकड़ों ग्रामीण महिला-पुरुष बच्चों को साथ लेकर इस कपकपाती ठंढ में सुबह साढ़े तीन बजे से महुआडांड़ स्थित बिरसा चौक पर अनिश्चितकालीन चक्का जाम कर दिया है। यह चक्का जाम ओरसा रोड निर्माण संघर्ष समिति के बैनर तले किया गया है। जिसका नेतृत्व समिति के अध्यक्ष सत्येंद्र यादव कर रहे हैं।

समिति के अध्यक्ष सत्येंद्र यादव ने बताया कि हामी मोड़ से ओरसापाठ की सड़क काफी जर्जर स्थिति में है। इस वजह से हम लोगो को आवागमन में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस जर्जर रोड में प्रखंड मुख्यालय से ओरसा आने में घंटो का समय लगता है। जबकि ओरसापाठ से महुआडाड प्रखण्ड मुख्यालय कि दूरी मात्र 20 किलोमीटर है।

उन्होंने बताया कि सड़क खराब होने के कारण दो पहिया वाहन व चार पहिया वाहनों का परिचालन लगभग नहीं के बराबर होता है। जिससे हम लोगो को साप्ताहिक बाजार व प्रखंड कार्यालय, अनुमंडल कार्यालय आने में काफी कठिनाई का सामना करना पड़ता है।

वनविभाग द्वारा पथ निर्माण में अड़ंगा डाला जाता है, वही विभाग के द्वारा मरमति कर मात्र खानापूर्ति की जाती है जो कि चलने लायक भी नहीं रहता।

चक्का जाम कर रहे ग्रामीण काफी आक्रोशित नजर आ रहे हैं और स्थानीय सांसद एवं विधायक के विरोध में नारे भी लगा रहे हैं। साथ ही ग्रामीण आगामी पंचायत चुनाव समेत सभी चुनावों के लिए रोड नहीं तो वोट नहीं के नारे लगा रहे हैं।

इस चक्का जाम से रांची-गुमला व महुआडांड़-डाल्टनगंज रूट पर चलने वाले वाहनों के पहिये थम गए हैं। सैकड़ों वाहन इस जाम में फंसे हुए हैं।

Mahuadand Birsa Chowk

https://thenewssense.in/category/latehar

https://www.facebook.com/newssenselatehar


Leave a Reply

Your email address will not be published.