Breaking :
||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस||पलामू: कोयला से भरा ट्रक और बीड़ी पत्ता लदा ऑटो जब्त, पांच गिरफ्तार, दो लातेहार के निवासी||लातेहार: नहाने के दौरान तालाब में डूबने से दस वर्षीय बच्चे की मौत, शव की तलाश में जुटे ग्रामीण
Thursday, June 13, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरलातेहार

लातेहार : खेत में धान बो रहे किसान पर गिरी बिजली, पति-पत्नी की मौके पर ही मौत

जिला प्रशासन से तत्काल मदद की अपील

लातेहार : सदर प्रखंड के पेशरार पंचायत के होसीर गांव के गोरीखांड़ टोला में धानरोपणी कर रहे पति-पत्नी की बिजली गिरने से मौत हो गयी।

मृतक पति-पत्नी की पहचान होसीर गांव निवासी जगलाल उरांव और सविता देवी के रूप में हुई है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बताया जाता है कि पति-पत्नी दोनों गोरीखांड़ टोला स्थित अपने खेत में धानरोपणी का काम कर रहे थे। इसी बीच गरज के साथ बारिश होने लगी। बारिश के दौरान अचानक वज्रपात हुई, जिसकी चपेट में पति-पत्नी दोनों आ गए, जिससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

घटना के बाद मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। ग्रामीणों ने बताया कि उनके दो छोटे बच्चे हैं। एक छह साल का है जबकि दूसरा नौ साल का है। घर में कोई सदस्य नहीं है जो इन्हें अस्पताल ले जा सके।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

ग्रामीणों ने प्रशासन से गुहार लगाते हुए कहा कि प्रशासन द्वारा वाहन की व्यवस्था की जाती तो उन्हें अस्पताल ले जाया जाता। ताकि उनका पोस्टमॉर्टम समय से हो सके। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से तत्काल मदद की अपील की है।

ग्रामीणों ने अनाथ बच्चों के भरण-पोषण और पीड़ित परिवार को मुआवजे देने की मांग की है। घटना के बाद गांव में मातम का माहौल है। समाचार लिखे जाने तक दोनों के शव खेत में ही पड़े थे।