Breaking :
||हजारीबाग सांसद जयंत सिन्हा ने राजनीति से लिया संन्यास, भाजपा अध्यक्ष को लिखा पत्र, जानिये वजह||दुमका में स्पेनिश महिला पर्यटक से गैंग रेप, तीन आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: बारियातू में बाइक पर अवैध कोयला ले जा रहे नौ लोग गिरफ्तार, जेल||लातेहार: अपराध की योजना बनाते दो युवक हथियार के साथ गिरफ्तार||पलामू: पेड़ से टकराकर पुल से नीचे गिरी बाइक, दो नाबालिग छात्रों की मौत, दो की हालत नाजुक||लोकसभा चुनाव: भाजपा ने की झारखंड से 11 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा, चतरा समेत इन तीन सीटों पर सस्पेंस बरकरार||लोससभा चुनाव: भाजपा की 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, देखें पूरी लिस्ट||सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों का हंगामा||झारखंड विधानसभा: बजट सत्र के अंतिम दिन कई विधेयक पारित||धनबाद: अस्पताल में लगी आग, मची अफरा-तफरी, मरीज और परिजन जान बचाकर भागे
Sunday, March 3, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड में छह साल से नहीं हुई जेटेट परीक्षा, हाईकोर्ट में याचिका दायर

रांची : छह साल से शिक्षक पात्रता परीक्षा (जेईटी) नहीं कराने के खिलाफ शनिवार को झारखंड उच्च न्यायालय में याचिका दायर की गयी। रिट याचिका में कहा गया है कि झारखंड सरकार ने विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के नियमों और दिशा-निर्देशों का पालन नहीं किया है। याचिका में कहा गया है कि प्रदेश में छह साल से शिक्षक पात्रता परीक्षा नहीं हुई है और सरकार 50 हजार शिक्षकों को बहाल करने की तैयारी कर रही है।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इसके लिए सभी जिलों से मुख्यालय पर आरक्षण रोस्टर भी मंगवा लिया गया है। जेटेट परीक्षा पास करने के बाद ही अभ्यर्थी कक्षा एक से आठवीं तक के शिक्षक बन सकेंगे। शिक्षक नियुक्ति के मामले में इसे योग्यता के रूप में रखा गया है, सरकार की ओर से कहा गया है कि केवल जेटेट योग्य व्यक्ति ही शिक्षक बन सकते हैं। याचिकाकर्ता ने कहा है कि छह साल से परीक्षा न होने के कारण कई योग्य छात्र शिक्षक नहीं बन पाए हैं।