Breaking :
||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर 62.13 फीसदी वोटिंग, सबसे अधिक जमशेदपुर, सबसे कम रांची में मतदान||झारखंड में कल से दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का असर, लातेहार, गढ़वा, पलामू व चतरा जिले में भी असर||लातेहार: दुकान में चोरी करने आये तीन चोर आग में झुलसे, एक की मौत, दो गंभीर||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला||पलामू: तत्कालीन एसपी के फर्जी हस्ताक्षर से बने 12 चरित्र प्रमाण पत्र, बड़ा गिरोह सक्रिय||ED की टीम फिर पहुंची आलमगीर आलम के पीएस संजीव लाल के नौकर जहांगीर के घर||झारखंड: ज्वैलर्स शोरूम से दो लाख रुपये नकद समेत 50 लाख के आभूषण की लूट||निशिकांत दुबे के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत||लातेहार: चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज||बंगाल की खाड़ी में बन रहे लो प्रेशर का झारखंड में असर, ऑरेंज अलर्ट जारी, झमाझम बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत
Sunday, May 26, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: JJMP के एरिया कमांडर ने पुलिस के सामने किया सरेंडर, बड़े भाई के एनकाउंटर में मारे जाने के बाद हुआ था शामिल

लातेहार : उग्रवादी संगठन झारखंड जनमुक्ति परिषद (JJMP) के एरिया कमांडर सत्येंद्र उरांव उर्फ़ अभिमन्यु उर्फ़ मामा ने गुरुवार को पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। सतेंद्र उरांव मुख्य रूप से पलामू जिले के पांकी थाना क्षेत्र के इरगू गांव का रहने वाला है। लातेहार एसपी कार्यालय के सभागार में आयोजित सादे समारोह में उसने एसपी अंजनी अंजन और सीआरपीएफ 11 बटालियन के कमांडेंट वेद प्रकाश त्रिपाठी के सामने सरेंडर कर दिया। पुलिस अधिकारियों ने उसे गुलदस्ता देकर सम्मानित किया।

Kidzee Latehar
Kidzee Latehar

पिछले चार साल से एरिया कमांडर के पद पर था सक्रिय

एसपी अंजनी अंजन ने बताया कि सत्येंद्र उरांव पिछले चार साल से जेजेएमपी संगठन के एरिया कमांडर के पद पर सक्रिय था। इस पर वर्ष 2021 में सदर थाना क्षेत्र के नावाडीह जंगल में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में शामिल होने का मामला भी दर्ज किया गया था। इस मुठभेड़ में एक बड़े अधिकारी शहीद हुए थे। इसके अलावा अन्य कई मुठभेड़ों में भी शामिल होने का आरोप था।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

सीआरपीएफ अधिकारियों से किया संपर्क

एसपी ने कहा कि उग्रवादियों से मोहभंग होने के बाद इसने सीआरपीएफ 11 बटालियन के कमांडेंट वेद प्रकाश त्रिपाठी और अन्य अधिकारियों से संपर्क किया और गुरुवार को सरेंडर करने की जानकारी ली। एसपी ने क्षेत्र में सक्रिय अन्य नक्सलियों से भी सरकार की आत्मसमर्पण नीति का लाभ उठाने और पुलिस के सामने आत्मसमर्पण करने की अपील की है।

मुठभेड़ में मारा गया था बड़ा भाई हरदयाल

सरेंडर करने वाले उग्रवादी सत्येंद्र ने बताया कि उसका बड़ा भाई हरदयाल उरांव भी उग्रवादी संगठन में शामिल था। लेकिन साल 2019 में एक मुठभेड़ में वह मारा गया। इसके बाद वह उग्रवादियों के संपर्क में आया और संगठन से जुड़ गया। लेकिन बाद में उसे लगा कि ये रास्ता सिर्फ बर्बादी के लिए है, इसलिए उसने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया।

अधिकारियों ने किया सम्मानित

सरेंडर करने के बाद उग्रवादी सत्येंद्र उरांव को एसपी व अन्य अधिकारियों ने गुलदस्ता देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर सीआरपीएफ 11 बटालियन के कमांडेंट वेद प्रकाश त्रिपाठी, सेकेंड इन कमांड ऑफिसर विनोद कनौजिया, पुलिस इंस्पेक्टर चंद्रशेखर चौधरी सहित अन्य मौजूद थे।

Latehar JJMP area commander surrendered