Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंड

लोकसभा चुनाव निष्पक्ष और शांतिपूर्ण संपन्न कराने में जुटी झारखंड पुलिस, गड़बड़ी करने वालों की खैर नहीं

रांची : लोकसभा चुनाव को पूरी तरह से निष्पक्ष और शांतिपूर्ण तरीके से कराने के लिए झारखंड पुलिस भी तैयारियों में जुट गयी है। पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर नक्सल अभियान, लंबित वारंट, कुर्की का निष्पादन के साथ साथ आपराधिक तत्वों के निरोधात्मक कार्रवाई भी शुरू की गयी। साथ ही इस बार पूर्व के चुनावों में किसी भी तरह की गड़बड़ी करने वाले भी पुलिस के राडार पर हैं।

झारखंड में चार चरणों में मतदान होना है। सुरक्षित और फेयर मतदान के करवाने के लिए झारखंड पुलिस हर इंतजाम करने में जुटी हुई। इस बार वैसे तत्व जो पूर्व के चुनावों में गड़बड़ी करते हुए चिन्हित हुए थे वे भी पुलिस के राडार पर हैं। झारखंड पुलिस के आईजी अभियान सह स्टेट पुलिस नोडल पदाधिकारी अमोल वी होमकर ने जिलों के एसपी को निर्देश दिया कि वे पूर्व के चुनावों में गड़बड़ी करने वाले तत्वों को भी चिन्हित करें। इनमें यदि कोई वारंटी है या फरार चल रहा तो उन पर कानूनी कार्रवाई करें। सभी थानों में ऐसे तत्वों की सूची भी तैयार करा कर रखें, ताकि उनपर नजर रखी जा सके।

आईजी होमकर ने निर्देश दिया है कि हिस्ट्रीशीटरों को चिन्हित कर कार्रवाई करें। इसके साथ लंबित वारंट, कुर्की का निष्पादन, निरोधात्मक कार्रवाई भी की जाये। सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों को आदेश दिया है कि सक्रिय अपराधियों के साथ उग्रवादियों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध कार्रवाई करें।

कुछ तत्व चुनावों के समय गड़बड़ी फैलाने और अफवाह के लिए सोशल मीडिया का प्रयोग करते हैं। ऐसे में पुलिस अफसरों को यह भी निर्देश दिया गया है कि वे सोशल मीडिया मॉनिटरिंग सेल को सशक्त करें। लोकसभा चुनाव के दौरान असामाजिक तत्वों के द्वारा व्हाट्सएप, ट्वीटर, फेसबुक पर अराजकता नहीं फैलायी जा सके, इसके लिए निगरानी बेहद कड़ी करने को कहा गया है। साथ ही जिलों के एसपी को निर्देश दिया कि इन विषयों के लिए अलग से हेल्पलाइन नम्बर जारी करें।

Lok Sabha Election News