Breaking :
||सुखाड़ को लेकर सरकार गंभीर, स्थिति का जायजा लेने सभी जिलों में भेजे गए अधिकारी||रांची में अपराधियों ने गैस दुकानदार मारी गोली, रिम्स में चल रहा इलाज||माओवादियों के नाम पर लेवी वसूलने आये तीन बदमाश पकड़ाये||झारखंड कैबिनेट में फेरबदल, कांग्रेस के लिए नयी मुसीबत, फूट पड़ने की आशंका बढ़ी||अब लातेहार के इस गांव के ग्रामीणों ने सीमा पर लगाया बोर्ड, बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक||सांगठनिक बदलाव की तैयारी में झारखंड कांग्रेस, अधिकांश जिले में नए चेहरों को मौका||उपराष्ट्रपति चुनाव में एनडीए प्रत्याशी जगदीप धनखड़ की जीत, देश के 14वें उपराष्ट्रपति होंगे धनखड़||सीएम हेमंत सोरेन पहुंचे दिल्ली, झारखंड कैबिनेट में फेरबदल की अटकलें तेज||माओवादियों की अपील, विश्व आदिवासी दिवस पर करें अत्याचार के खिलाफ संघर्ष||लातेहार: मनिका में एंबुलेंस और ट्रक की सीधी टक्कर में एक की मौत, 6 घायल

लातेहार: मृतक के खाते से अवैध निकासी के आरोप में पंजाब नेशनल बैंक के पूर्व शाखा प्रबंधक गिरफ्तार, जेल

'

लातेहार : सदर थाना पुलिस ने मृतक के खाते से अवैध निकासी के आरोप में पंजाब नेशनल बैंक के पूर्व शाखा प्रबंधक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

इस संबंध में जानकारी देते हुए सदर थाना के इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता ने बताया कि 22 मई 2019 को लातेहार पंजाब नेशनल बैंक परिसर में अनवर सिंह (पिता सुगरन सिंह ओदान, लातेहार) की मृत्यु हो गयी थी। बाद में ज्ञात हुआ की मृतक के पंजाब नेशनल बैंक के खाते से 1 लाख रुपये की अवैध निकासी की गयी है। इसके बाद मृतक के पिता सुगरन सिंह के आवेदन पर लातेहार थाना में काण्ड संख्या- 175/2019 के तहत 3 अक्टूबर 2019 को मामला दर्ज किया गया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उन्होंने बताया कि जांच के क्रम में ज्ञात हुआ कि मृतक के खाते से निकाली गयी राशि चतरा एवं बांका, बिहार के एक व्यक्ति के खाते ट्रांसफर किया गया है। उनसे पूछताछ करने एवं पंजाब नेशनल बैंक लातेहार के 22 मई 2019 के अवलोकनं से पता चला कि इस घटना का मुख्य साजिशकर्ता रितेश कुमार महलका पिता नरेश महलका लातेहार मेन रोड एवं संदीप रजक किशुनपुर, चतरा है।

सघन जांच के बाद ज्ञात हुआ कि पंजाब नेशनल बैंक लातेहार के तत्कालीन बैंक अधिकारी अलमन खाखा एवं विजय कुमार अक्सर बैंक में भीड़ हो जाने पर अपने CSP संचालक रितेश कुमार महलका को बैंक का कार्य करने के लिए बुलाते थे।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

बताया कि 22 मई 2019 को भी रितेश कुमार महलका को बैंक में बुलाया गया था। इसी दौरान अनवर सिंह की मृत्य होने के बाद रितेश कुमार महलका, बैंक प्रबंधक अलमन खाखा एवं विजय कुजूर के साथ मिलकर अलमन खाखा एवं विजय कुजूर का ID एवं पासवर्ड का प्रयोग कर मृतक अनवर सिंह के खाता में पूर्व से REGISTERD मोबाइल नंबर को बदलकर संदीप रजक का मोबाइल नम्बर REGISTERD कर दिया गया।

इसके बाद तुरंत मृतक के खाते से सारी राशि निकाल ली गयी। खाते से सारी राशि निकलने के बाद तुरंत उस खाते में पुराना नंबर REGISTERD कर दिया गया। इस मामले में मुख्य साजिशकर्ता रितेश कुमार महलका न्यायलय में आत्मसमर्पण के बाद जमानत पर मुक्त है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

वहीं इस मामले में तत्कालीन बैंक अधिकारी अलमन खाखा के विरुद्ध न्यायलय से गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया है। इसी मामले में तत्कालीन बैंक अधिकारी अलमन खाखा को गढ़वा पंजाब नेशनल बैंक से गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

छापामारी में पुअनि धर्मेन्द्र कुमार महतो, पुअनि रोहित कुमार महतो एवं गढ़वा पुलिस शामिल थी।