Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Friday, April 19, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरउत्तरी छोटानागपुरझारखंड

धनबाद: अस्पताल में लगी आग, मची अफरा-तफरी, मरीज और परिजन जान बचाकर भागे

धनबाद : जिले के शहीद निर्मल महतो मेडिकल कॉलेज अस्पताल में शुक्रवार की रात अचानक आग लग गयी। आग लगने की खबर और धुआं फैलने से पूरे अस्पताल परिसर में अफरा-तफरी मच गयी। मरीज और उनके परिजन इधर-उधर भागने लगे। डायलिसिस वार्ड में करीब छह मरीज भर्ती थे। काफी जद्दोजहद के बाद सभी को सुरक्षित बाहर निकाला गया।

अस्पताल के थर्ड फ्लोर में भर्ती 400 से अधिक मरीजों और उनके परिजनों ने खुद भागकर जान बचायी। इसके अलावा सर्जिकल वार्ड, शिशु, गायनी, मेडिसिन, आईसीयू समेत अन्य वार्ड के मरीजों को भी उनके परिजन और अस्पताल के कर्मचारी ने बचाया। देर रात कई मरीजों को सदर और अन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालांकि, घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है।

बताया जाता है कि आग अस्पताल के डायलिसिस यूनिट में लगी थी, जो अस्पताल के पहले फ्लोर पर स्थित है। जब आग लगी तब अस्पताल के चिकित्सक, नर्स या स्वास्थ्य कर्मचारी डायलिसिस वार्ड या उसके आसपास नहीं थे। जब डायलिसिस वार्ड से धुआं निकलते देखा तो भागे-भागे पूरा अमला वहां पहुंचा। साथ ही दमकल की चार गाड़ियां मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाया। फिलहाल आग लगने के कारण का पता नहीं चल पाया है।

खबर पाकर धनबाद के एसडीओ, सरायढेला पुलिस और जिला प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। देर रात तक 400 से अधिक मरीज और उनके परिजन अस्पताल के बाहर बैठे रहे। देर रात ही डायलिसिस यूनिट के गंभीर मरीजों को सदर अस्पताल में शिफ्ट किया गया। अन्य मरीजों को भी सदर और अन्य अस्पतालों में भर्ती कराया गया।

Dhanbad Latest News Today