Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर||चतरा: अत्याधुनिक हथियार के साथ TSPC के तीन उग्रवादी गिरफ्तार||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज
Sunday, June 16, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: अनियंत्रित कार के धक्के से ससुर-दामाद घायल, पुलिस ने पेश की मिसाल

पलामू : मेदिनीनगर शहर थाना क्षेत्र के जेलहाता इलाके में एक तेज रफ्तार अनियंत्रित कार ने सड़क किनारे नाश्ता कर रहे ससुर और दामाद को टक्कर मार दी। साथ ही पांच गाड़ियों में टक्कर मारते हुए सेंट्रल जेल की दीवार से टकरा गयी। घटना के बाद पुलिस ने जहां घायल ससुर-दामाद को एमएमसीएच में इलाज के लिए भर्ती कराया, वहीं कार को जब्त कर लिया है। चालक को शहर थाना लाया गया है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बताया जाता है कि रेहला थाना क्षेत्र के सुलुमदाग के रहने वाले उपेंद्र राम जेलहाता (35) इलाके में डॉक्टर अरुण शुक्ला के अस्पताल में अपने ससुर सीता राम के हाथ का प्लास्टर हटवाने के लिए आया था। अस्पताल में नंबर लेट रहने के कारण ससुर और दामाद दोनों सड़क किनारे नाश्ता कर रहे थे। इसी क्रम में एक तेज रफ्तार वैगनआर कार ने दोनों को चपेट में लेते हुए पांच गाड़ियों में टक्कर मारते हुए सेंट्रल जेल की दीवार से टकरा गयी।

बताया जाता है कि जेलहाता इलाके के सूर्य प्रताप सिंह के पुत्र ने तेजी एवं लापरवाही से कार चलाते हुए इस घटना को अंजाम दिया।

एंबुलेंस का इंतजार ना कर अपनी गाड़ी में दोनों घायलों को एमएमसीएच ले जाने में टीओपी वन के प्रभारी रेवा शंकर राणा और उनके जवानों ने मदद की। एमएमसीएच में स्ट्रेचर पर लादकर इलाज के लिए भर्ती कराया। टीओपी वन के प्रभारी रेवा शंकर राणा और उनकी सभी टाइगर टीम ने कर्तव्यपरायणता की मिसाल पेश की।

Palamu Latest News Today