Breaking :
||चतरा: अत्याधुनिक हथियार के साथ TSPC के तीन उग्रवादी गिरफ्तार||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस
Saturday, June 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू ACB की कार्रवाई, नौ हजार घूस लेते शिक्षा विभाग का BPO गिरफ्तार

Palamu BPO Arrested News

पलामू : एंटी करप्शन ब्यूरो की पलामू इकाई ने नावा बाजार प्रखंड के शिक्षा विभाग के प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी बच्चन कुमार पंकज को नौ रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। उत्क्रमित मध्य विद्यालय चेचन्हा भुइयां टोली के सहायक अध्यापक-पारा शिक्षक का मानदेय रोकने के बाद उसे रिलीज करने के एवज में 10 हजार की घूस मांगी थी। आवेदक घूस नहीं देना चाहते थे और कई दिनों तक आग्रह करने के बाद भी जब प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी रिश्वत लेने पर अड़े रहे तो इस संबंध में पलामू एसीबी कार्यालय में शिकायत की गयी।

शिकायत के आलोक में पलामू एसीबी के अधिकारियों ने एक टीम बनायी और कार्रवाई करते हुए प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी को नौ रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। गिरफ्तार करने के बाद प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी को मेदिनीनगर लाया गया और फिर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

एंटी करप्शन ब्यूरो पलामू की ओर से जानकारी दी गयी है कि नावा बाजार के प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी हरिप्रसाद ठाकुर एवं प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी बच्चन कुमार पंकज ने 22 अप्रैल 2024 को उत्क्रमित मध्य विद्यालय चेचन्हा भुइयां टोली का निरीक्षण किया था। उस दिन विद्यालय में 20 बच्चे उपस्थित थे। दोनों पदाधिकारियों ने स्कूल के सहायक अध्यापक से स्पष्टीकरण पूछा था। साथ ही सहायक अध्यापक के मानदेय भुगतान पर रोक लगा दी थी। सहायक अध्यापक ने दो बार स्पष्टीकरण का जवाब दिया था, लेकिन प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी ने बंद किये गये मानदेय पर किसी प्रकार का विचार नहीं किया।

सहायक अध्यापक द्वारा मानदेय भुगतान का आग्रह करने पर प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी ने 10000 घूस की मांग की। सहायक अध्यापक घूस नहीं देना चाहते थे और उन्होंने इसकी शिकायत एसीबी के मेदिनीनगर कार्यालय में की थी। सत्यापन के बाद मामला सही पाये जाने पर इस संबंध में कार्रवाई की गयी।

Palamu BPO Arrested News