Breaking :
||घास काटने गयी 50 वर्षीय महिला के साथ पुलिसकर्मियों ने की हैवानियत, गैंगरेप के बाद गुप्तांग पर पैरों से हमला||लातेहार: कठपुलिया लूट का चंद घंटों में खुलासा, चार लुटेरे हथियार व सामान के साथ गिरफ्तार||दुमका में फिर सनकी प्रेमी ने युवती को जिंदा जलाया, रिम्स पहुंचने से पहले हुई मौत||पलामू में जन वितरण प्रणाली दुकानदार की गोली मारकर हत्या, पुलिस कर रही जांच||लातेहार: युवक हत्याकांड का खुलासा, भाभी ने ही करा दी देवर की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार||थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी कंपनी के साइट पर नक्सलियों का उत्पात, फायरिंग कर जेसीबी में लगायी आग||दुर्गा पूजा पर आयोजित कार्यक्रम देख लौट रही नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म||हजारीबाग: तीर्थयात्रियों से भरे बस और ट्रक की सीधी टक्कर में 4 की मौत, 30 घायल||लातेहार: ढाबा चलाने की आड़ में अफीम व डोडा पाउडर बेचने के आरोप में ढाबा संचालक गिरफ्तार||रांची: गैस रिफिलिंग की दुकान में रखे सिलेंडर में हुए विस्फोट से चार दुकानें जलकर राख

आदिवासियों की पहचान की रक्षा को लेकर पारंपरिक पड़हा स्वशासन व्यवस्था की बैठक में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा

'

बारियातू /संजय राम

लातेहार : बारियातू प्रखंड अंतर्गत टोंटी पंचायत के जतरा टांड इटके मध्य विद्यालय के समीप शनिवार को पारंपरिक पड़हा स्वशासन व्यवस्था, पड़हा चट्टा का एक दिवसीय कार्यक्रम आयोजित की गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता मोहन उरांव ने की।

कार्यक्रम में बारियातू, बालूमाथ व हेरहंज तीनों प्रखंड के सक्रिय सदस्यों का प्रखंडवार आदिवासियों की आर्थिक एवं आदिवासी पहचान की रक्षा को लेकर चर्चा की गई।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पड़हा प्रदेश संयोजक देव कुमार धान ने पारंपरिक पड़हा स्वाशसन व्यवस्था, जमीन, धर्म, भाषा, संस्कृति, आदिवासी पड़हा स्वशासन व्यवस्था, बेटी बहन की रक्षा, शिक्षा, और आर्थिक विकास, संवैधानिक अधिकार, कानून व्यवस्था के बारे में विशेष रूप से उपस्थित लोगों को जानकारी दी।

वही जिला पड़हा के प्रभु दयाल उरांव, दिलीप उरांव, प्रखंड पड़हा लालजी उरांव, धर्म अगुआ तेतर उरांव, दिगंबर टाना भगत, विकास प्राधिकार जिला लातेहार प्रतिनिधि सदस्य मुनेश्वर उरांव ने भी अपने अपने विचार व्यक्त किये।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से रंजन उरांव, अर्जुन उरांव, विष्णुदेव उरांव, उर्मिला देवी, धनो देवी, नरेश उरांव रामेश्वर उरांव संतोष उरांव सहित दर्जनों की संख्या में आदिवासी महिला पुरुषों ने भाग लिया।


Leave a Reply

Your email address will not be published.