Breaking :
||पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की जमानत याचिका पर कल होगी सुनवाई||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, शादी समारोह से लौट रही कार पेड़ से टकरायी, पति की मौत, पत्नी और पोते की हालत नाजुक||लातेहार: सिरफिरे युवक ने दो महिलाओं समेत पिता को कुल्हाड़ी से काट डाला, गिरफ्तार||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक
Tuesday, April 23, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरलातेहार

आदिवासियों की पहचान की रक्षा को लेकर पारंपरिक पड़हा स्वशासन व्यवस्था की बैठक में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा

बारियातू /संजय राम

लातेहार : बारियातू प्रखंड अंतर्गत टोंटी पंचायत के जतरा टांड इटके मध्य विद्यालय के समीप शनिवार को पारंपरिक पड़हा स्वशासन व्यवस्था, पड़हा चट्टा का एक दिवसीय कार्यक्रम आयोजित की गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता मोहन उरांव ने की।

कार्यक्रम में बारियातू, बालूमाथ व हेरहंज तीनों प्रखंड के सक्रिय सदस्यों का प्रखंडवार आदिवासियों की आर्थिक एवं आदिवासी पहचान की रक्षा को लेकर चर्चा की गई।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पड़हा प्रदेश संयोजक देव कुमार धान ने पारंपरिक पड़हा स्वाशसन व्यवस्था, जमीन, धर्म, भाषा, संस्कृति, आदिवासी पड़हा स्वशासन व्यवस्था, बेटी बहन की रक्षा, शिक्षा, और आर्थिक विकास, संवैधानिक अधिकार, कानून व्यवस्था के बारे में विशेष रूप से उपस्थित लोगों को जानकारी दी।

वही जिला पड़हा के प्रभु दयाल उरांव, दिलीप उरांव, प्रखंड पड़हा लालजी उरांव, धर्म अगुआ तेतर उरांव, दिगंबर टाना भगत, विकास प्राधिकार जिला लातेहार प्रतिनिधि सदस्य मुनेश्वर उरांव ने भी अपने अपने विचार व्यक्त किये।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से रंजन उरांव, अर्जुन उरांव, विष्णुदेव उरांव, उर्मिला देवी, धनो देवी, नरेश उरांव रामेश्वर उरांव संतोष उरांव सहित दर्जनों की संख्या में आदिवासी महिला पुरुषों ने भाग लिया।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *