Breaking :
||BREAKING: बालूमाथ में मधुमक्खियों ने फिर किया हमला, एक आदिवासी महिला की मौत, छह घायल||लातेहार: पातम-डाटम जल प्रपात घूमने आये दो युवकों की नहाने के दौरान नदी में डूबने से मौत||पाकुड़ में करंट लगने से बाप-बेटे की मौत, बेटे को बचाने में गयी पिता की जान||झारखंड में IAS अधिकारियों का तबादला, केके सोन को परिवहन विभाग का अतिरिक्त प्रभार||बूढ़ा पहाड़ पहुंचे CRPF के DG कुलदीप सिंह, जवानों का बढ़ाया हौसला||वर्चस्व की लड़ाई में मारा गया JJMP कमांडर, लातेहार, रामगढ़ और रांची इलाके में था सक्रिय||शर्मनाक: पुलिस कर्मी पर जानवर से दुष्कर्म का आरोप, ग्रामीणों ने की मारपीट, आरोपी जवान निलंबित||BREAKING: पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में घायल सीआरपीएफ जवान की इलाज के दौरान मौत||15 लाख का इनामी माओवादी कमांडर विनय यादव गिरफ्तार, पलामू, लातेहार, गढ़वा व चतरा में हुए कई नक्सली हमलों में था शामिल||पलामू: अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार दो युवकों की मौत, एक गंभीर

बरवाडीह : रोक के बावजूद शेड निर्माण कार्य शुरू करने से ग्रामीणों में आक्रोश, कार्रवाई की मांग

'

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : बरवाडीह प्रखंड की छेछा पंचायत अंतर्गत जिला परिषद की राशि से कब्रिस्तान शेड निर्माण का कार्य विवादों में चल रहा है। भूमि विवाद को लेकर ग्रामीणों की शिकायत के बाद अंचलाधिकारी राकेश सहाय द्वारा 1 माह पूर्व शेड का निर्माण कार्य बंद करने का आदेश दिया गया था। साथ ही जांच के भी आदेश दिए गए थे।

रोक के बावजूद एक सप्ताह पूर्व स्थानीय मुखिया और पंचायत समिति सदस्य के द्वारा निजी स्तर पर बैठक करते हुए निर्माण कार्य को चालू करने का आदेश दे दिया गया। जिसके बाद संवेदक के द्वारा पूर्व के निर्माण स्थल से कुछ दूर हटकर निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया।

निर्माण कार्य शुरू होने के बाद एक बार फिर ग्रामीणों में निर्माण कार्य के प्रति नाराजगी बढ़ने लगी और सोमवार को ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के साथ ही जिला उपायुक्त को पत्र लिखा। जिसकी प्रति स्थानीय अनुमंडल पुलिस अधिकारी और अंचल अधिकारी को देते हुए निर्माण कार्य को पूरी तरह से रोककर भूमि का सत्यापन कराने की मांग की गई है।

ग्रामीणों ने यह भी आरोप लगाया कि पंचायत के मुखिया और पंचायत समिति के द्वारा बिना किसी को जानकारी दिए कुछ लोगों के साथ मिलकर निर्माण कार्य शुरू कराने की सहमति दी गई है, जो ग्रामीणों के हित में गलत है। जब शेड का निर्माण कार्य कब्रिस्तान के लिए है तो उसे कब्रिस्तान के अंदर बनाया जाना चाहिए। लेकिन संवेदक के द्वारा कब्रिस्तान के अंदर ना बनाकर उसे देव स्थल की भूमि में बनाने का काम किया जा रहा है।

शिकायत करने वालों में आनंद कुमार सिंह, जयपाल प्रसाद, उमेश सिंह, अंकल सिंह, अनिल सिंह, सत्येंद्र कुमार, रामनरेश सिंह, अशोक सिंह, भोला सिंह, शिवम राम, सुरेश सिंह समेत काफी संख्या में ग्रामीण शामिल हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published.