Breaking :
||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
Sunday, February 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडलबालूमाथलातेहार

The News Sense की खबर का असर, बालूमाथ में ग्रामीण सड़क से नहीं हुई कोयले की ढुलाई, ग्रामीणों ने ली राहत की सांस, दिया साधुवाद

लातेहार : मंगलवार को जिले के बालूमाथ प्रखंड क्षेत्र स्थित कुशमाही रेलवे कोल साइडिंग में कोयला परिवहन में काफी सुधार देखा गया। बालूमाथ-चंदवा मुख्य मार्ग मकइयाटांड़ से हेमपुर, मुरगांव ग्रामीण सड़क से कोयला परिवहन नहीं हुआ। जिससे ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मालूम हो कि कुशमाही रेलवे कोल साइडिंग में मुख्य सड़क से हेमपुर, मुरगांव ग्रामीण सड़क होते हुए सिमरसोत ग्रामीण सड़क से हाइवा वाहनों से कोयले का परिवहन किया जा रहा था। जहां आये दिन हाइवा वाहन चालक बीच सड़क पर ही वाहन खड़ा कर दे रहे थे। वाहनों के खड़ा होने से पैदल यात्रियों के साथ-साथ विभिन्न स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को आवागमन में काफी परेशानी हो रही थी। इस परेशानी की वजह से सोमवार को विभिन्न स्कूलों के सैकड़ों बच्चे समय पर स्कूल जाने से वंचित रह गये। वाहनों के परिचालन से उड़ती धूलकण से भी लोग काफी परेशान दिखे। मंगलवार को कोयला परिवहन के दौरान बालूमाथ मुख्य सड़क से सिमरसोत गांव के पूर्व रेलवे कोल साइडिंग तक जाने वाली सड़क पर आज नियमित छिड़काव भी होते देखा गया। इससे लोगों को धूल से राहत मिली।

आपको बता दें कि सोमवार को The News Sense ने कोयला परिवहन के दौरान ग्रामीणों को हो रही परेशानी की खबर प्रमुखता से प्रकाशित किया था। जिसका असर आज मंगलवार को देखने को मिला। प्रभावित क्षेत्र के ग्रामीणों ने न्यूज सेंस की खबर पर अपनी सहमति की मुहर लगाते हुए साधुवाद दिया है। ग्रामीणों का कहना है कि जनसमस्याओं की खबरों को प्रमुखता से प्रकाशित करने से लोगों में न्यूज सेंस के प्रति विश्वास के साथ खबरों के प्रति आस्था भी बढ़ी है। न्यूज सेंस समाचार प्रकाशित कर प्रभावित क्षेत्र के ग्रामीणों की आवाज बन गया है।

मालूम हो कि जिस ग्रामीण सड़क से कोयले की ढुलाई हो रही थी उस सड़क पर आंगनबाडी केंद्र, स्वास्थ्य केंद्र भैंसादोन, मध्य विद्यालय हेमपुर, मध्य विद्यालय मुरगांव, मध्य विद्यालय सिमरसोत, उत्क्रमित उच्च विद्यालय समेत कई सरकारी व गैर सरकारी शिक्षण संस्थान हैं, इस ग्राणीण सड़क पर हजारों की संख्या में लोग हर दिन यात्रा करते हैं। वहीं उक्त विद्यालय के बच्चे भी इसी रास्ते से आवागमन करते हैं। लेकिन कोयला परिवहन के दौरान उड़ने वाले धूल कणों के कारण उन्हें काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा था।

Balumath Latehar Latest News