Breaking :
||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 28 फरवरी को आयेंगी रांची, सुरक्षा के रहेंगे कड़े इंतजाम||झारखंड: अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर युवती से किया दुष्कर्म, धर्म परिवर्तन कराकर जबरन करा दी शादी||लातेहार: बालूमाथ में लोडेड देशी पिस्टल के साथ दो युवक गिरफ्तार, कार जब्त||पीएम मोदी ने समुद्र में लगायी डुबकी, जलमग्न कृष्ण की नगरी द्वारका को देखा||लातेहार: बारियातू में ऑटो चालक की गोली मारकर हत्या, विरोध में सड़क जाम||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल
Sunday, February 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

मुख्यमंत्री विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को नहीं मिली जमानत

रांची: विशेष ईडी न्यायाधीश प्रभात कुमार शर्मा की अदालत ने साहिबगंज जिले में अवैध खनन और टेंडर प्रबंधन के आरोपी मुख्यमंत्री विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा की जमानत याचिका शनिवार को खारिज कर दी।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इससे पहले इस मामले की सुनवाई पिछले मंगलवार को हुई थी। सुनवाई के दौरान पंकज मिश्रा के वकील प्रदीप चंद्रा ने पंकज के इलाज से जुड़े दस्तावेज कोर्ट के सामने पेश किए और खराब स्वास्थ्य के आधार पर जमानत की गुहार लगायी।

ईडी की ओर से दलील देते हुए विशेष लोक अभियोजक आतिश कुमार ने पंकज मिश्रा के वकील की दलीलों का कड़ा विरोध किया और अदालत से जमानत न देने का आग्रह किया। इसके बाद कोर्ट ने सुनवाई पूरी कर आदेश सुरक्षित रख लिया था।

गौरतलब है कि पंकज मिश्रा पर अवैध खनन और टेंडर प्रबंधन से जुड़े एक हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है। इस मामले में पंकज मिश्रा को ईडी की टीम ने 19 जुलाई को गिरफ्तार किया था। फिलहाल उनका रिम्स में न्यायिक हिरासत में इलाज चल रहा है।