Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

उदयनिधि स्टालिन के बयान पर अपनी स्थिति स्पष्ट करें मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन : बाबूलाल मरांडी

रांची : प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने आज उदयनिधि स्टालिन के बयान पर इंडी गठबंधन के घटक झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से जवाब मांगा है।

श्री मरांडी ने कहा कि राज्य के सनातन धर्म से जुड़े बयान पर जनता हेमंत सोरेन का जवाब जानना चाहती है। इस संबंध में हेमंत सोरेन को अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि हाल ही में मुंबई में इंडी एलायंस की बैठक हुई थी, जिसमें राज्य के सत्तारूढ़ गठबंधन झामुमो, कांग्रेस और राजद के शीर्ष नेता शामिल हुए थे। इसके बाद तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के बेटे और तमिलनाडु सरकार में मंत्री उदयनिधि स्टालिन ने सनातन धर्म की तुलना डेंगू और मलेरिया से की और सनातन को खत्म करने की बात कही।

श्री मरांडी ने कहा कि स्टालिन के बयान से करोड़ों सनातन धर्मावलंबियों को ठेस पहुंची है। उन्होंने कहा कि सनातन संस्कृति लाखों वर्षों से चली आ रही है। इसे खत्म करने की बात करने वाले खुद मिटते चले गये। लेकिन सनातन परंपरा अक्षुण्ण बनी रही।

उन्होंने कहा कि भारतीय गठबंधन में शामिल झामुमो नेता और राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को उदयनिधि स्टालिन के बयान पर स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को यह स्पष्ट करना चाहिए कि वह स्टालिन के बयान का समर्थन करते हैं या विरोध।

Jharkhand Latest News Today