Breaking :
||लातेहार: पातम-डाटम जल प्रपात घूमने आये दो युवकों की नहाने के दौरान नदी में डूबने से मौत||पाकुड़ में करंट लगने से बाप-बेटे की मौत, बेटे को बचाने में गयी पिता की जान||झारखंड में IAS अधिकारियों का तबादला, केके सोन को परिवहन विभाग का अतिरिक्त प्रभार||बूढ़ा पहाड़ पहुंचे CRPF के DG कुलदीप सिंह, जवानों का बढ़ाया हौसला||वर्चस्व की लड़ाई में मारा गया JJMP कमांडर, लातेहार, रामगढ़ और रांची इलाके में था सक्रिय||शर्मनाक: पुलिस कर्मी पर जानवर से दुष्कर्म का आरोप, ग्रामीणों ने की मारपीट, आरोपी जवान निलंबित||BREAKING: पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में घायल सीआरपीएफ जवान की इलाज के दौरान मौत||15 लाख का इनामी माओवादी कमांडर विनय यादव गिरफ्तार, पलामू, लातेहार, गढ़वा व चतरा में हुए कई नक्सली हमलों में था शामिल||पलामू: अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार दो युवकों की मौत, एक गंभीर||नहीं रहे कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव, दिल्ली एम्स में निधन, हार गए जिंदगी की जंग

चतरा डीसी अबु इमरान ने किया एक और सांसद का अपमान, लोकसभा स्पीकर के पास दूसरी बार पहुंची शिकायत

'

रांची : बिहार के गया लोकसभा क्षेत्र के सांसद विजय कुमार ने चतरा के उपायुक्त अबु इमरान के खिलाफ लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से शिकायत की है। उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष से प्रोटोकॉल और विशेषाधिकार हनन के मामले में उपायुक्त के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

इससे पहले पलामू सांसद वीडी राम ने उपायुक्त के खिलाफ लोकसभा अध्यक्ष से भी शिकायत की थी। इस तरह दूसरी बार उपायुक्त के खिलाफ लोकसभा अध्यक्ष के पास शिकायत पहुंची है।

शिकायत में सांसद ने उल्लेख किया है कि वह 11 जुलाई को चतरा कलेक्ट्रेट में पुलिस अधीक्षक से मिलने गए थे। उनकी कार चालक ने कार्यालय के बाहर खड़ी की थी। उसी समय चतरा के उपायुक्त अबु इमरान वहां आए और कार पार्क करने पर उन्हें डांटने लगे।

जब मेरे ड्राइवर ने चतरा के उपायुक्त को बताया कि यह सांसद विजय कुमार का वाहन है, उसके बाद भी उपायुक्त ने बहुत बुरा भला कहा और कार जब्त करने की धमकी दी। उन्होंने चालक व वाहन के कागजात भी खंगाले।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

सांसद विजय कुमार के अनुसार उपायुक्त अबु इमरान का व्यवहार और भाषा संसदीय मर्यादा के अनुरूप नहीं थी, यह जानते हुए भी कि यह दलित समुदाय से आने वाले सांसद की गाड़ी है। मुझे सबके सामने दलित होने के कारण अपमानित किया गया। इससे सार्वजनिक जीवन में मेरी छवि खराब हुई है।

उपायुक्त ने एक तरीके से बातचीत करना भी जरूरी नहीं समझा। उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष से मांग की है कि चतरा के उपायुक्त के खिलाफ विशेषाधिकार हनन समिति के माध्यम से जांच कराई जाए। उन्होंने शिकायत पत्र की एक प्रति लोकसभा की विशेषाधिकार समिति के अध्यक्ष सुनील कुमार सिंह को भी दी है।

आपको बता दें कि उपायुक्त अबु इमरान के खिलाफ यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले पलामू सांसद वीडी राम ने लोकसभा अध्यक्ष से भी शिकायत की है। उस मामले की सुनवाई विशेषाधिकार समिति के अध्यक्ष सांसद सुनील कुमार सिंह कर रहे हैं।

सांसद वीडी राम ने आरोप लगाया था कि रांची जाते समय वह कुछ समय के लिए सर्किट हाउस में रुके थे। इस दौरान उपायुक्त अबु इमरान ने पाया कि प्रवेश द्वार पर कुछ वाहनों के खड़े होने से जाम की स्थिति बनी हुई है। इसके बाद उन्होंने सांसद के साथ जा रहे जिला परिषद सदस्य प्रमोद सिंह के वाहन का लाइसेंस जब्त कर लिया। इतना ही नहीं उसने कार की चाबी अपने पास रख ली।

सांसद ने उपायुक्त को समझाने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं माने। बाद में अबु इमरान ने ड्राइवर से सादे कागज पर लिखने को कहा कि गाड़ी गलत पार्किंग में खड़ी थी। इस माफी के बाद लाइसेंस और चाबी वापस कर दी गई। सांसद वीडी राम ने यह भी आरोप लगाया था कि सर्किट हाउस में उनकी मौजूदगी के बावजूद उपायुक्त अबु इमरान ने मुलाकात तक नहीं की।