Breaking :
||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 28 फरवरी को आयेंगी रांची, सुरक्षा के रहेंगे कड़े इंतजाम||झारखंड: अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर युवती से किया दुष्कर्म, धर्म परिवर्तन कराकर जबरन करा दी शादी||लातेहार: बालूमाथ में लोडेड देशी पिस्टल के साथ दो युवक गिरफ्तार, कार जब्त||पीएम मोदी ने समुद्र में लगायी डुबकी, जलमग्न कृष्ण की नगरी द्वारका को देखा||लातेहार: बारियातू में ऑटो चालक की गोली मारकर हत्या, विरोध में सड़क जाम||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल
Monday, February 26, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

केंद्र की झारखंड को चेतावनी, कहा- डीवीसी का बकाया चुकाओ, नहीं तो जारी रहेगी बिजली कटौती

रांची: झारखंड सरकार और केंद्र की बिजली को लेकर खींचतान सुलझने का नाम नहीं ले रही है। केंद्र ने गुरुवार को झारखंड सरकार को साफ शब्दों में चेतावनी दी और कहा कि जब तक झारखंड डीवीसी का बकाया नहीं चुकाता तब तक डीवीसी की बिजली कटौती जारी रहेगी।

जेबीवीएनएल के अधिकारियों के मुताबिक अलग-अलग जिलों में बिजली गुल या नुकसान को ध्यान में रखकर बिजली कटौती की जा रही है। ऐसे इलाकों में जहां बिजली कटौती अधिक होती है, इन इलाकों में बिजली कटौती ज्यादा हो रही है। इस संबंध में कोई लिखित आदेश जारी नहीं किया गया है।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

लेकिन सभी उपकेंद्रों में बहाल इंजीनियरों को मौखिक आदेश दे दिए गए हैं। ज्ञात हो कि बिजली गुल होने का मतलब ऐसे इलाकों से है जहां से कम बिजली बिल वसूला जाता है। ऐसे फीडरों से ही बिजली काटी जा रही है।

राजधानी रांची में छह घंटे तक बिजली कटौती हुई है। उच्च बिजली कटौती वाले क्षेत्र रातू रोड, रातू चट्टी, लटमा, कांके, अरसंडे, मंदार, तोरपा, घाघरा, कुडू, टाटीसिल्वे, नामकुम, पिठोरिया, नगड़ी और अन्य क्षेत्र हैं।

इन इलाकों में पांच घंटे तक बिजली कटौती की जाती है। बिजली संकट के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में बिजली कटौती का समय निर्धारित किया गया है।