Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

लातेहार के इस गांव में नहीं हो रही है लड़कों की शादी, वजह जान आप भी रह जाएंगे हैरान

लातेहार के चंदवा प्रखंड में एक ऐसा गांव है जहां लड़कों की शादी नहीं हो रही है। जी हां, आपको यह बात अजीब लग सकती है, लेकिन यह सच है। इतना ही नहीं इसके पीछे की वजह आपको हैरान करने वाली है।

इस गांव का नाम पडुवा हरिया है और यहां कोई अपनी लड़की नहीं देना चाहता। इसके पीछे का कारण है जंगली हाथी। इस वजह से इस गांव में कोई भी अपनी लड़की से शादी नहीं करना चाहता है।

इस गांव में कुछ सालों से हाथियों का ऐसा उपद्रव चल रहा है कि कई युवकों की शादी टूट चुकी है। बेटों की शादी टूटने से परेशान पडुवा के ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से हाथियों से निजात दिलाने में मदद की गुहार लगाई है।

चकला निवासी सोमरा उरांव नाम के एक ग्रामीण ने बताया कि उसके बेटे की शादी तय हो गई थी। लेकिन, हाथियों ने इलाके में इतना दहशत पैदा कर दी कि आने वाली समधि ने बेटी की शादी से इनकार कर दिया।उन्होंने कहा कि उनकी बेटी यहां कैसे सुरक्षित रहेगी।

गांव के लोगों के मुताबिक पहाड़ों और जंगलों से घिरे गांवों में लगभग साल भर से हाथियों के हमले का सामना करना पड़ रहा है। हाथी न सिर्फ फसलों को रौंदते हैं बल्कि घरों में घुसकर उन्हें परेशान भी करते हैं। घर में रखे अनाज और तोड़फोड़ की। यहां लोग जंगली हाथी से काफी परेशान हैं।

शादी न होने से निराश राजेंद्र मुंडा नाम के युवक ने बताया कि उसकी शादी तय हो गई थी। दिन की तैयारी चल रही थी। तभी हाथियों ने फिर से गांव में हंगामा करना शुरू कर दिया जब लड़कियों को इस बात का पता चला तो उन्होंने तुरंत शादी के लिए मना कर दिया और लड़के की शादी टूट गई। ग्रामीणों ने बताया कि गजराज आधी रात के बाद आकर घरों में घुसकर फिर जंगल में चला जाता था।

हाथियों के भय से ग्रामीण खाद्य सामग्री व अन्य कीमती सामान ट्रेक्टर के द्वारा सुरक्षित स्थानों पर भेज रहे हैं। कई ग्रामीण तो गांव से पलायन का भी मन बना रहे हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *