Breaking :
||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
Sunday, February 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरदेश-विदेशराष्ट्रीय

बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में CRPF के 3 जवान शहीद, 14 जवान घायल

बीजापुर/सुकमा/रायपुर : बीजापुर-सुकमा सीमा पर जोनागुड़ा और अलीगुड़ा के पास मंगलवार को नक्सली हमले में सीआरपीएफ के तीन जवान शहीद हो गये। गोलीबारी में घायल 14 जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज सुंदरराज पी. ने मुठभेड़ की पुष्टि की है।

जिस इलाके में मंगलवार को नक्सलियों ने सुरक्षा बलों पर हमला किया, वहां 2021 में 23 जवानों की जान चली गयी थी। नक्सली गतिविधि पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से सुकमा और बीजापुर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र (थाना जगरगुंडा, जिला सुकमा) पर ग्राम टेकलगुडेम में सुरक्षा शिविर स्थापित किया गया है। यहां से आज दोपहर कोबरा, एसटीएफ और डीआरजी के जवान जोनागुड़ा-अलीगुड़ा इलाके में सर्चिंग के लिए निकले थे। इसी दौरान नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी।

सुरक्षा बलों की जवाबी फायरिंग में नक्सली भाग गये। पुलिस सूत्रों के मुताबिक हमले में 3 जवानों के शहीद होने की खबर है। मुठभेड़ में 14 जवान घायल हो गये हैं। गंभीर रूप से घायल जवानों को रायपुर भेजने की तैयारी चल रही है।

पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज सुंदरराज पी. के मुताबिक बस्तर पुलिस और तैनात सुरक्षा बल क्षेत्र के लोगों को नक्सल समस्या से मुक्ति दिलाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। वर्ष 2021 में टेकलगुडेम मुठभेड़ में हमें हुई भारी क्षति के बावजूद, जनहित को ध्यान में रखते हुए, आज हम एक बार फिर टेकलगुडेम गांव में एक शिविर स्थापित करेंगे और क्षेत्र की शांति, सुरक्षा और विकास के लिए समर्पित होकर काम करेंगे।

Chhattisgarh Naxal Attack News