Breaking :
||दुमका में फिर पेट्रोल कांड, प्रेमिका और उसकी मां पर पेट्रोल डाल कर प्रेमी ने लगायी आग||छत्तीसगढ़ में पुलिस के साथ मुठभेड़ में चार नक्सली ढेर, शव बरामद||UP राज्यसभा चुनाव में BJP के आठों उम्मीदवारों ने की जीत हासिल||माओवादी टॉप कमांडर रविंद्र गंझू के दस्ते का सक्रिय सदस्य ढेचुआ गिरफ्तार||पलामू: तूफान और बारिश ने मचायी तबाही, दो छात्रों की मौत, कहीं गिरे पेड़ तो कहीं ब्लैकआउट||झारखंड के 4 IAS अधिकारियों का तबादला, JPSC के सचिव का भी हुआ ट्रांसफर||झारखंड में 23 IPS अफसरों का तबादला, अंजनी अंजन बने रांची के ग्रामीण एसपी||पलामू: ग्रामीण डॉक्टर का अपहरण, मरीज को दिखाने के बहाने क्लिनिक में आये थे अपराधी||Jharkhand Budget: बाबूलाल मरांडी ने कहा- बजट में जन कल्याणकारी योजनाओं का समावेश नहीं||विधानसभा में 1.28 लाख करोड़ का बजट पेश, 2 लाख तक के कृषि ऋण होंगे माफ़, जानिये सरकार की अन्य घोषणायें
Wednesday, February 28, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार में पिछले दो साल में 239 सड़क हादसों में 198 लोगों की गयी जान

तेज रफ्तार और लापरवाही बड़ा कारण

लातेहार : पिछले दो साल में लातेहार जिले में 239 लोगों की सड़क हादसों में जान चली गयी। वर्ष 2021 में लातेहार जिले में कुल 112 सड़क हादसों में कुल 92 मौतें हुई हैं और लातेहार जिले में वर्ष 2022 में हुए कुल 127 सड़क हादसों में कुल 106 मौतें हुई हैं। जहां 2021 की तुलना में 2022 में 15 सड़क हादसों और 16 मौतों का इजाफा हुआ है।

यह जानकारी जिला परिवहन पदाधिकारी संतोष सिंह ने पत्रकार वार्ता में दी। जिले में बढ़ रहे सड़क हादसों व इससे होने वाली मौतों की रोकथाम को लेकर यह पत्रकार वार्ता आयोजित की गयी थी।

उन्होंने बताया कि ये आंकड़े चिंताजनक हैं क्योंकि सड़क हादसों में बढ़ोतरी का मुख्य कारण वाहनों की तेज रफ्तार और लापरवाही है। वाहन चालकों द्वारा यातायात नियमों की अवहेलना की जा रही है जिसके लिए वाहन चालकों को सड़क सुरक्षा नियम के साथ वाहन चलाना आवश्यक है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

ज़िला परिवहन पदाधिकारी ने बताया कि लातेहार जिले के अंतर्गत वर्ष 2022 में हुए कुछ प्रमुख सड़क हादसों का विवरण निम्न है, जहां सर्वाधिक सड़क दुर्घटनायें हुई हैं लातेहार थाना-27 दुर्घटनायें, 19 मौतें, चंदवा थाना-22 दुर्घटनायें, 17 मौतें, बालूमाथ थाना-19 हादसे, 18 की मौत, मनिका थाना-18 दुर्घटनाओं में 17 की मौत, बरवाडीह थाना-15 दुर्घटनाओं में 12 की मौत। लातेहार जिले में होने वाली कुल सड़क दुर्घटनाओं में से 80% उक्त 5 (पांच) थाना क्षेत्रों में हुई है।

ज़िला परिवहन पदाधिकारी ने बताया कि सड़क हादसों की रोकथाम के लिये राज्य एवं जिला स्तर पर अनेक कार्य किये जा रहे हैं ताकि सड़क हादसों एवं उनसे होने वाली मौतों को कम किया जा सके। लातेहार जिले में वर्ष 2022 में यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले कुल 2648 वाहन चालकों को सड़क सुरक्षा संबंधी परामर्श दिया गया। वर्ष 2022 में 45 विद्यालयों के 1169 विद्यार्थियों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक किया गया।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में हिट एंड रन और गुड समेरिटन के बारे मे विस्तार पूर्वक जानकारी दिया गया। 25 अप्रैल के बाद विशेष रणनीति के तहत जागरुकता अभियान एवम् विशेष वाहन चेकिंग अभियान चलाया जाएगा। प्रेस कॉन्फ्रेंस में ज़िला परिवहन पदाधिकारी द्वारा सभी पत्रकार से सुझाव मांगा गया जिस पर ज़िला परिवहन पदाधिकारी द्वारा कार्य करने का आश्वासन भी दिया गया।

प्रेस कांफ्रेंस में हिट एंड रन और गुड सेमेरिटन के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी। 25 अप्रैल के बाद विशेष रणनीति के तहत जागरूकता अभियान व विशेष वाहन चेकिंग अभियान चलाया जायेगा। पत्रकार वार्ता में जिला परिवहन पदाधिकारी द्वारा सभी पत्रकारों से सुझाव मांगे गये जिस पर जिला परिवहन पदाधिकारी द्वारा कार्य करने का आश्वासन भी दिया गया।

प्रेस कांफ्रेंस में अनुमंडल पदाधिकारी शेखर कुमार, डीएसपी (मुख्यालय) कैलाश करमाली, मोटरयान निरीक्षक सुनील कुमार, प्रिंट एवम इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकार उपस्थित थे।

Latehar Raod Accident